On Gratitude & Pride (आभार और गुरूर)

बचपन में, मुझे आभार व्यक्त करने में बहुत कठिनाई होती थी। “आपके पास जो कुछ है उसके लिए आपको आभारी होना चाहिए।” – टीचर ने कहा, हमने सुना, लेकिन तात्पर्य समझ के परे था | अक्सर ऐसा प्रतीत होता था, की आभार व्यक्त करना अमीरों का डिपार्टमेंट है | मेहेंगा टिफ़िन नहीं था, नए जूते नहीं थे, साइकिल नहीं थी, “Scholastic” से किताबें खरीदने के लिए पैसे नहीं थे, तो आभार किस बात का? आभार के भार की रिक्ति को अक्सर गुरूर से भर लिया करता था |

लंबे समय तक, मैं वास्तव में समझ नहीं पाया कि “आभार” का क्या मतलब है | लेकिन आज, जैसे तैसे मैं ये हिंदी लेख लिख रहा हु, मुझे लगता है कि मुझे मालूम चल गया है कि आभार क्या है।

मैं अपने शरीर के लिए आभारी हूं, जिसने मुझे हर रोज जीवित रखा, जिसने मुझे एक घातक महामारी से बचने में मदद की, जिससे मुझे सांस लेने में मदद मिली। एक शरीर जो मुझे हिलने-डुलने देता है, जो मुझे दौड़ने देता है, अच्छा महसूस कराता है, और आखिरकार मुझे खुद से जुड़ने में मदद करता है। एक ऐसा शरीर जो मुझे हर दर्द और चोट और बीमारी से उबरने में मदद करता है। एक ऐसा शरीर जो मुझे शांत महसूस करने में मदद करता है क्योंकि इसमें संगीत की सुध में गति खोजने की क्षमता है।

मैं अपने अद्भुद माता-पिता और बहन के लिए आभारी हूं, जिन्होंने मुझे एक आरामदायक घर, एक आरामदायक बचपन और एक खुशाल वातावरण प्रदान किया। मेरे माता-पिता जो यह सुनिश्चित करने के लिए अपना पेट काटते रहे, ताकि मुझे जो चाहिए वह मुझे मिले, जिन्होंने मेरे सभी सपनों का समर्थन किया, भले ही वे उन्हें न समझे, और जिन्होंने इस दुनिया को अपने बच्चों के लिए एक बेहतर जगह बनाया।

मैं अपने जीवन के प्यार के लिए आभारी हूं, जो न केवल मेरी सबसे बड़ी सपोर्ट सिस्टम है, बल्कि जो मुझे लगातार बेहतर करने के लिए प्रेरित करती है| जिसने मेरे लिए एक उत्कृष्ट प्रेरणास्रोत का उदाहरण पेश किया है | जो अपनी ज़िन्दगी के हर इंसान से प्यार करती है, उनके लिए रस्ते खोजने में आगे रहती है, और जो मुझे विश्वास दिलाती है कि इस दुनिया में इंसानियत से बढ़कर कुछ नहीं |

मैं अपने मन के लिए भी आभारी हूं, जो मुझे इस तरह से हैरान करता है जिसकी मैं कल्पना भी नहीं कर सकता। आज इस हिंदी लेख लिकने की जिज्ञासा का उधारण ही ले लीजिये | मेरा मन, जो बहुत कुछ झेल चुका है और अभी भी आगे बढ़ने की ताकत पाता है। एक मन जिसने सभी खूबसूरत यादों को संजोया है और एक मन जो विचारों से भरा हुआ है। एक ऐसा मन जो अब मेरी सबसे बड़ी ताकत बन गया है और एक ऐसा मन जो मुझे कभी निराश नहीं करता। एक मन जो मेरे सबसे निचले स्तर पर मेरे साथ रहा और मुझे उस समय से बाहर आने में मदद की, केवल मेरे लिए एक सुरक्षित जगह बनने के लिए, और एक मन जो निरंतर मेरे शरीर से जुड़े रहने में सहयोग करना है। एक मन जिसने मुझे अपनी कला खोजने में मदद की है।

मैं उन सभी का आभारी हूं, जिन्होंने मुझे खुली बांहों से स्वीकार किया और मुझे खुश रखने की पूरी कोशिश की, जिन्होंने लगातार मेरे साथ बढ़ने का प्रयास किया। आप उन महत्वपूर्ण कारणों में से एक हैं जिन्होंने मुझे आज बनाया है । आपने मुझे दिखाया है कि प्यार कैसा महसूस होता है, और मुझे अपने सबसे बुरे समय से गुजरने में मदद की है, आपने मुझे वह प्यार दिखाया है जिसके मैं हकदार हूं और आप मुझे अपनी दया और सहानुभूति से निरंतर आश्चर्यचकित करते रहते हैं।

बस एक आखिरी बात और – जिनका मैं आभारी हु, उनका मेरी ज़िन्दगी में होने का गुरूर भी खूब है |

Discuss on Twitter